X Close
X
9793077771

सुरक्षा सहयोग को पुनर्जीवित करने के लिए जुलाई में ब्रिटेन जाएंगे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह


images-4-5.jpeg
नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के दोनों देशों के बीच सुरक्षा सहयोग को पुनर्जीवित करने के लिए अगले महीने की शुरुआत में ब्रिटेन की यात्रा करने की उम्मीद है, जिसमें युद्धपोतों के लिए लड़ाकू विमानों और इंजनों के संयुक्त विकास में संभावित सहयोग शामिल है।

उनकी यात्रा, अप्रैल में अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी के साथ एक शिखर सम्मेलन के लिए यूके के प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन की भारत यात्रा का अनुवर्ती है, जिस पर दोनों पक्षों ने एक विस्तारित रक्षा साझेदारी का अनावरण किया। ब्रिटिश सैन्य हार्डवेयर और प्रौद्योगिकी तक आसान पहुंच की परिकल्पना की गई।

इस मामले से वाकिफ लोगों ने बताया कि रक्षा मंत्री के 4 जुलाई से यूके में होने की उम्मीद है। दोनों देशों ने अभी तक आधिकारिक तौर पर यात्रा की घोषणा नहीं की है। लोगों ने कहा कि यात्रा के दौरान रक्षा सहयोग पर कुछ समझौतों पर हस्ताक्षर होने की संभावना है और दोनों पक्ष विवरण को बंद करने के लिए काम कर रहे हैं।

जॉनसन ने अप्रैल में मोदी के साथ अपने शिखर सम्मेलन के बाद कहा कि दोनों पक्ष एक नई और विस्तारित रक्षा और सुरक्षा साझेदारी पर सहमत हुए जो “मेक इन इंडिया” पहल का समर्थन करेगी। यूके भारत-विशिष्ट “ओपन जनरल एक्सपोर्ट लाइसेंस” बनाएगा, नौकरशाही को कम करेगा और रक्षा खरीद के लिए डिलीवरी का समय कम करेगा।

भविष्य के सहयोग के क्षेत्रों में नई लड़ाकू जेट प्रौद्योगिकी और समुद्री प्रौद्योगिकियों पर भागीदारी शामिल है। रक्षा और सुरक्षा सहयोग भारत-यूके व्यापक रणनीतिक साझेदारी और रोडमैप 2030 के पांच स्तंभों में से एक है।

लोगों ने कहा कि दोनों पक्षों द्वारा जिन प्रस्तावों पर चर्चा की जा रही है उनमें भारत के नियोजित उन्नत मध्यम लड़ाकू विमानों के लिए इंजनों का सह-विकास और युद्धपोतों के लिए हाइब्रिड-इलेक्ट्रिक प्रणोदन प्रणाली शामिल है।

The post सुरक्षा सहयोग को पुनर्जीवित करने के लिए जुलाई में ब्रिटेन जाएंगे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह appeared first on Everyday News. (EVERYDAY NEWS)